Poems

This blog has poems in Hindi, English and Urdu. with purpose and feel & related media . To develop motivation, values and spiritual wisdom.

  • Poems

    MyPoem: The Intense Feel of Love❤

    The Intense Feel of Love❤—————————————I don’t know why!I keep watching you…..I don’t know why!I keep feeling you…..I don’t know How!I make you understand…..I don’t why why!it’s rare & firm….. I know it’s annoyingfor…

  • Poems

    MyPoem: Sometimes

    Sometimes, I want to get lost somewhere… Hide myself in a secret attire…. May be Inside a shell, or in a tomb, Where no one either seeks me.. Or could see my flow..…

  • Poems

    MyPoems: ऐ मालिक!

    ऐ मालिक! ज्यादा नहीं, बस इतना करम करना आँखों में शरम रखना हाथों में धरम रखना अपनी मर्यादाऔं का ज़हन में अदब रखना ऐ मालिक! ज्यादा नहीं, बस इतना करम करना बढ़ते कदमों…

  • Poems

    MyPoems: अक्सर इक सवाल सा…….

    अक्सर इक सवाल सा……. पूछा है जिंदगी से यह सवाल कई बार  आखिर मुझे है किस बात का इंतजार जिंदा हूं मैं क्योंकि सांसे है बर्करार पर जज्बातों के भीतर घुटन क्यों है…

  • Poems

    MyPoems: Maa

    मां  रिश्तो के तो नाम कही है, पर मां होना आसान नहीं है  अपना हर एक ख्वाब भुला कर, खुश रहना आसान नहीं है  एक एक काम है मां के जिम्मे, समय सारणी…

  • Poems

    MyPoems: मेरा चांद

    मेरा चांद  अक्सर मेरी खिड़की से झांक कर, कुछ फुसफुसाता है मेरा चांद …. आधी अंधेरी रात से छुपता छुपाता, चांदनी मेरे मुख पर बिखर जाता है मेरा चांद….  मुझसे मेरी ही मुलाकात करा…

  • Poems

    MyPoem: Sapne, The dreams of a woman

    1. बीते कल के सपने मेरे वो सपने जुड़े थे तुमसे, तुम्हीं से मेरा ह्रदय जुड़ा था  तुम्हें जो पाया मन उड़ चला था, तुम्हीं से मेरा हर आसरा था  पर तुम्हें था…

  • Poems

    MyPoems: ख्वाब

    हमने बनाया था ख्वाबों का गुलिस्तां, जहाँ जस्बातों की सतह पर प्यार के गुल खिले थे अपनेपन और इज़्ज़त के दरख्तों पर सुकून के रसीले फल लदे थे महक रहा था गुलज़ार अरमानों…