Poems

This blog has poems in Hindi, English and Urdu. with purpose and feel & related media . To develop motivation, values and spiritual wisdom.

  • Poems

    MyPoems: ख्वाब

    हमने बनाया था ख्वाबों का गुलिस्तां, जहाँ जस्बातों की सतह पर प्यार के गुल खिले थे अपनेपन और इज़्ज़त के दरख्तों पर सुकून के रसीले फल लदे थे महक रहा था गुलज़ार अरमानों…

  • Poems

    MyPoems: घर की धूल

    घर की धूल *चमकती धूप में जब कभी देखा अपनी हथेली को, कम नहीं पाया किसी से भी इन लकीरों को, *कुछ कमी तो रह गई फिर भी नसीब में मेरे, ठोकरें खाता…

  • Poems

    MyPoems: मेरा अक्स

    क्यूँ इतना मजबूर मेरा वजूद नज़र आता है ? उलझा उलझा बड़ा फ़िज़ूल नज़र आता है अपनी आँखों के बिखरते सपनों का क़तरा क़तरा ज़हर सा नज़र आता है हम ढूँढ़ते रहे जिन…

  • Poems

    MyPoems: नारी शक्ति को दर्शाति कविता : तुम बिन

    मैं जी नहीं पाऊँगी तुम बिन हाँ, जी नहीं पाऊँगी तुम बिन चाहे रिश्ते हजार मिल जाए पर साथ न कोई भी तुम बिन चाहे नाम अनेकों पड़ जाए, पहचान नहीं मेरी तुम…

  • Poems

    MyPoems : Social issues : सामाजिक पहलू

    आरक्षण  कोई मत बांटो इस देश को    कोई मत बांटो मेरे देश को य यह भारत माता तड़प रही  हम सब के आगे बिलख रही  मत तोड़ो उस विश्वास को  जो जोड़े आम और…

  • Poems

    MyPoems: मरीचिका

    मरीचिका •आसमां जितना भी दिखे, हाथों में समा सकता नहीं •आईने में अक्स: चाहे, मैं ही हूँ फिर भी छुआ जाता नहीं •ख्वाब जितने भी हों पलकों के खुलते ही, मिला करते नहीं…