Blog

Weekly Vastu Tips in Hindi: Part-2 Best directions for Slope

अक्सर यह देखा गया है कि, लोगों को वास्तु शास्त्र के मूल को समझने में समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिसके चलते वे इस अति आवश्यक विषय को अंधविश्वास या कल्पनिक आदि कुछ मान कर नज़रअंदाज़ कर देते हैं। इन सब बातों को देखते हुए ही मैने साप्ताहिक (weekly)  वास्तु टिप्स पोस्ट करने का निर्णय लिया है। जिससे सभी को वास्तु के विषय में पर्याप्त जानकारी मिल सकेगी और वे अपनी मूलभूत समस्याओं के समाधान स्वयं ही कर सकेंगे। 

ध्यान रखिये, हमें वास्तु शास्त्र के सदुपयोग से अपने स्थान की शक्तियों का सकारात्मक संतुलन स्थापित कर जीवन की अनेक परेशानियों को दूर करने की ओर अग्रसर होना है। इसी कड़ी में आज का विषय…. 

कौनसी हैं ढलान के लिए सही दिशायें…

वास्तु विज्ञान में ढलान या slope का सर्वाधिक महत्वपूर्ण स्थान है…

घर, फ़ैक्टरी या ऑफिस की भूमि या छत की ढलान का सही दिशा में होना अति आवश्यक है। अगर ऐसा नहीं है तो तुरंत सही दिशा का बोध कर अपनी इमारत की ढलान को ठीक करवाइये। ऐसा करते ही मान लीजिये कि आपके आधे वास्तु दोष स्वत: ही दुर हो गये। 

ढलान चाहे किसी कमरे के फर्श का हो…. 

भूमि का हो…

छत का हो …

टीन शेड का हो …

या घर के बाहर.. रोड़ का ही क्यों न हो 

सबका वास्तु विज्ञान में एक ही सिम्पल फ़ार्मूला है की

ढलान हमेशा …उत्तर-पुर्व या ईशान कोण में ही होना चाहिए 

सबसे नीचा …ईशान कोण(NE), 

ईशान से ऊँचा …वायव्य कोण( NW)

वायव्य से ऊँचा …अग्निकोण (SE) और 

अग्निकोण से ऊँचा …नैऋत्य कोण(SW) होना शुभ रहता है अर्थात पुरा ढलान नैऋत्य कोण से ईशान कोण की तरफ़ होना चाहिए। 

आप जिस घर में रहते हैं … या जिस बैडरूम में सोते हैं तुरन्त उसके फर्श का ढलान चैक किजिए अगर यह दक्षिण, पश्चिम, वायव्य या आग्नेय दिशा में है तो यह शुभ नहीं है क्योंकी धीरे धीरे आपका स्वास्थ्य और धन इससे नष्ट होना शुरू हो जायेगा और आपको पता भी नहींं चलेगा।   

नोट – किसी भी चीज़ का आधा ढलान शुभ और आधा अशुभ हो …यानि आधा पुर्व व आधा पश्चिम या आधा उत्तर व आधा दक्षिण तो ऐसा चल सकता है क्यों की जो भूमि बीच में से ऊँची व चारों तरफ़ से नीची हो उसे वास्तु की द्रष्टि से शुभ माना जाता है। 

अगर आप भी अपने घर अथवा कार्यस्थल के वास्तु को समझने, संभालने और सही परिवर्तन कर वास्तु दोष दूर करने के विभिन्न उपायों आदि की जानकारी के लिए संपर्क करना चाहते हैं तो…

संपर्क करने के लिए Email करें…

Book Appointment for Online Consultancy

मिलने के लिए कृपया ये Appointment Form भरिये…

Leave a Reply

Your email address will not be published.