Featured/ Cover Story,  Spiritual Wisdom,  Thought of the Day

A Hindi Prayer to fight against Covid-19

prayers : एक सुर में करें प्रभु का आह्वान

हे शिव शंकर, हे करुणा कर,
महादेव सुर नाथ, प्रभु जी तुम महादेव सुर नाथ।

हे गंगा धर, नीलकंठ कर,
किया सदा कल्याण, प्रभु जी यहां किया सदा कल्याण।

कलयुग में प्रभु कहां छिपे हो,
तोड़ो अपना ध्यान, प्रभु अब तोड़ो अपना ध्यान।

जन जन को अब आस तिहारी,
आओ करो संघार, प्रभु इस विष (कोरोना वायरस) का करो संघार।।

गौरी पति शिव, दया के सागर,
नारायण निरंकार, प्रभु जी तुम नारायण निरंकार,

त्रिनेत्री शिव, त्रिशूल धारी,
तांडव करो हे नाथ, ऐसा तांडव करो हे नाथ।

भोले शंकर, हे नगेशेश्वर
सुनलो रूदन हज़ार, प्रभु जी हम करते हैं आह्वान।।
🙏🏼

इस संकट की घड़ी में, तब जबकि पिछले 1 वर्ष से अधिक समय लेते हुए कोविड-19 का यह कहर अब तीसरी लहर की ओर अग्रसर है, जहां अनगिनत लोगों को क्षति पहुंचाने और अनेक परिवारों को रुलाने के बाद अब इसका निशाना हमारे नन्हे बच्चों पर सदा हुआ है। तो अब तक तो शायद हम हर क्षति अपने ऊपर सहन कर भी रहे थे पर अपनी ही आंखों के सामने इन नन्हे फरिश्तों की मासूम किलकारियां की गूंज को करहाते शायद नहीं देख पाएंगे।

आओ हम सब मिलकर अपनी-अपनी तरह से अपने प्रभु का आह्वान करते हैं कि हे प्रभु जिस मर्जी रूप में आकर जिस तरह से आप चाहे वैसे इस विश का संघार कर दीजिए और हम सब को इस दोष से मुक्त कर दीजिए।

Disclaimer:- इस वेबसाइट अथवा पत्रिका का उद्देश्य मनोरंजन के माध्यम से महिलाओं एवं लेखकों द्वारा लिखी रचनाओं को प्रोत्साहित करना है। यहाँ प्रस्तुत सभी रचनाएँ काल्पनिक हैं तथा किसी भी रचना का किसी भी व्यक्ति से कोई सम्बन्ध नहीं है। यदि कोई रचना किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व, स्वभाव, उसकी स्थिति या उसके मन के भाव से मेल खाती हो तो उसे सिर्फ एक सयोंग ही समझा जाए। इसके अतिरिक्त प्रत्येक पोस्ट में व्यक्त गए लेखक के व्यक्तिगत विचार हैं, यह जरूरी नहीं की वे विचार pearlsofwords.com या E-Magazine हर स्त्री एक “प्रेरणा” की सोच अथवा विचारों को प्रतिबिंबित करते हों। किसिस भी त्रुटि अथवा चूक के लिए लेखक स्वयं जिम्मेदार है pearlsofwords.com या E-Magazine हर स्त्री एक “प्रेरणा”की इसमें कोई ज़िम्मेदारी नहीं है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *