• Poems

    Best Hindi Poems with Feel: Aaks-The Reflection

    A- अक्स क्यों इतना मजबूर मेरा वजूद नज़र आता है, उलझा उलझा बड़ा फ़िजूल नज़र आता है.. अपनी आंखों के बिखरते सपनों का, कतरा कतरा ज़हर सा नज़र आता है.. हम ढूंढते रहे…

  • Poems

    MyPoem: Sometimes

    Sometimes, I want to get lost somewhere… Hide myself in a secret attire…. May be Inside a shell, or in a tomb, Where no one either seeks me.. Or could see my flow..…

  • Poems

    MyPoems: घर की धूल

    घर की धूल *चमकती धूप में जब कभी देखा अपनी हथेली को, कम नहीं पाया किसी से भी इन लकीरों को, *कुछ कमी तो रह गई फिर भी नसीब में मेरे, ठोकरें खाता…